माता जी अग्नि स्नान के बाद आज के श्रृंगार दर्शन